टोल टैक्स को लेकर सरकार ने बनाया नया नियम, Fastag लगे होने पर ही मिलेगा टोल टैक्स में डिस्काउंट

Order your Free FASTag Today!

Order Now

साउंड के लिए वीडियो पर क्लिक करके अनम्यूट करें

हाईवे पर चलने वालों के लिए इस खबर के बारे में जानना काफी जरूरी है। सरकार ने डिजिटल भुगतान (Digital Payment) को बढ़ावा देने लिए टोल टैक्स को लेकर एक नियम में फिर बदलाव किया है। 

सरकार ने अब हाईवे पर हर गाड़ी की आवाजाही पर फास्टैग जरूरी बनाने का एक नया तरीका निकाला है। अब सिर्फ उसी को 24 घंटों में लौटने पर टोल टैक्स (Toll Plaza Discount) में मिलने वाली छूट मिलेगी, जिसकी गाड़ी पर वैध (Valid) फास्टैग होगा। यानि, अब अगर आप कैश भुगतान कर के टोल टैक्स देते हैं तो आपको 24 घंटों में वापस लौटने पर टोल टैक्स में मिलने वाली छूट नहीं मिलेगी। 

यह भी पढ़ें : सरकार से मिली राहत: ड्राइविंग लाइसेंस (DL) और व्हीकल डॉक्यूमेंट्स की बढ़ी वैलिडिटी

मान लीजिए, अगर आप दिल्ली से हरियाणा जा रहे हैं और आपको 24 घंटे के अंदर लौटना है। ऐसी स्थिति में आप एक साथ ही डबल पर्ची यानि जाने और वापस आने का टोल टैक्स भरकर डिस्काउंट पा सकते हैं। लेकिन, अब ये नहीं हो पायेगा। ऐसा करने के लिए आपके वाहन में फास्टैग होना जरुरी है। सरकार ने टोल डिस्काउंट का यह नया तरीका डिजिटल भुगतान (Digital Payment) को बढ़ावा देने के लिए निकाला है। 

मतलब अगर कोई शख्स 24 घंटों के अंदर लौटता है तो खुद ही उसके फास्टैग खाते से डिस्काउंट लगाकर पैसे कटेंगे। डिस्काउंट पाने के लिए पहले से कोई रसीद लेने के जरूरत नहीं होगी।  

मंत्रालय के एक अधिकारी के मुताबिक़ “NH के टोल प्लाजा पर डिजिटल भुगतान के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए, नियमों में संशोधन किए गए हैं। इस बदलाव के तहत 24 घंटों के भीतर वापसी यात्रा पर डिस्काउंट मिलेगा। यह डिस्काउंट फास्टैग या कोई अन्य उपकरण और ऑटोमैटिक से होगा। इसके लिए किसी पास की जरुरत नहीं होगी ”।

यह भी पढ़ें : खत्म हो रही लोन मोरेटोरियम की सुविधा, RBI ने किया रिस्ट्रक्चरिंग स्कीम का एलान

अधिकारी ने आगे कहा कि “डिस्काउंट के लिए देय शुल्क का भुगतान प्री-पेड उपकरण, स्मार्ट कार्ड या FASTag के माध्यम से या बोर्ड यूनिट (ट्रांसपोंडर) या किसी अन्य ऐसे ही उपकरण के माध्यम से किया जाएगा। ये डिस्काउंट सिर्फ ऐसे मामलों में होगा जहां 24 घंटे के भीतर वापसी यात्रा के लिए छूट उपलब्ध है। इसलिए लिए पहले से किसी पर्ची या सूचना की जरुरत नहीं है। यह डिस्काउंट अपने आप ही मिल जाएगी यदि वापसी यात्रा 24 घंटे के भीतर की जाती है वाहन में वैध FASTag लगा हुआ है। 

फास्टैग क्या है ?

साल 2014 में भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण यानि NHAI ने इलेट्रॉनिक टोल भुगतान सिस्टम को लांच था। फास्टैग लगे होने से आपको टोल प्लाजा पर रुकने और कैश देने का झंझट ख़त्म हो जाता है। FASTag में रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) स्टिकर का उपयोग किया जाता है। और, उस स्टिकर से जुड़े खाते से ही टोल नाकों पर टोल फी लिया  जाता है।

साल 2014 में गोल्डन क्वाड्रीलेटरल रोड पर अहमदाबाद और मुंबई के बीच इस टोल भुगतान सिस्टम का उपयोग हुआ था। फिलहाल देश में 500 से भी ज्यादा राष्ट्रीय राजमार्गों के टोल नाकों पर लगा हुआ है।  

इससे पहले, सरकार ने आदेश दिया था कि राष्ट्रीय राजमार्गों पर टोल प्लाजा के सभी लेन को 15 दिसंबर तक फास्टैग लेन घोषित किया जाए। साथ ही, सरकार ने टोल प्लाजा की चौथी लेन को १ महीने के लिए नकद और डिजिटल दोनों भुगतान लेने की अनुमति दी थी। वो भी 15 जनवरी को समाप्त हो गई।

आपको ये भी बता दें कि, जनवरी 2019 में देश की नामी तेल कंपनियों जैसे  IOC, BPCL and HPCL ने भी सरकार की  FASTag स्किम के साथ जुड़ के गाड़ी मालिकों को फास्टैग का इस्तेमाल करके पेट्रोल पंप पर खरीद करने की छूट दे दी है। अब आप पेट्रोल पंप पर फास्टैग से भी भुगतान कर पाएंगे। 

साथ ही हाल ही में आए एक नोटिस के अनुसार, अब फास्टैग उपयोगकर्ता नेशनल हाईवे पर स्थित फ़ूड प्लाजा पर भी छूट प्राप्त कर सकते हैं। अब वो दिन भी दूर नहीं जब टोल से लेकर पेट्रोल और खाना तक सब कुछ का भुगतान फास्टैग से किया जा सकेगा। 

अगर फास्टैग से जुड़े कोई सवाल आपके मन में है तो हमसे कमेंट के जरिये भेजें. अगर आपको हमारा यह वीडियो अच्छा लगा तो बाकी ट्रक भाइयों के साथ भी शेयर करें। ट्रकिंग जगत से जुडी अन्य जानकारी और लेटेस्ट अपडेट के लिए हमारे चैनल को सब्सक्राइब कर लें। 

Have a question related to truck business? / क्या आपके पास कोई ट्रक व्यवसाय से संबंधित प्रश्न है?
Ask / प्रश्न पूछे

प्रातिक्रिया दे

Pay only Rs 3400 (60% Off) for GPS. Offer available for a limited time*

X