ट्रांसपोर्टर्स को राहत, 6 महीने का रोड टैक्स माफ

Order your Free FASTag Today!

Order Now

साउंड के लिए वीडियो पर क्लिक करके अनम्यूट करें

ठाकरे सरकार ने कोरोना संकट काल के दौरान पब्लिक ट्रांसपोर्ट और मालवाहक वाहनों के लिए 1 अप्रैल 2020 से 30 सितंबर 2020 तक के लिए वाहन कर माफ कर दिया है। बुधवार (27 अगस्त) को प्रदेश कैबिनेट की बैठक में सरकार ने यह फैसला लिया है। 

बैठक के बाद परिवहन मंत्री अनिल परब ने पत्रकारों को बताया कि, लॉकडाउन के चलते सार्वजनिक वाहन पूरी तरह से बंद थे जिससे वाहन मालिकों का काफी नुकसान हुआ है। इन बातों को देखते हुए राज्य सरकार ने 6 माह के लिए वाहन टैक्स माफ करने का फैसला लिया है। 

यह भी पढ़ें : पॉलिसी को रिन्यू कराने के लिए एक वैध पॉल्यूशन अंडर कंट्रोल (पीयूसी) सर्टिफ़िकेट की जरूरत

आइए अब ये जानते हैं कि किन-किन वाहनों को सरकार के इस फैसले का लाभ मिलेगा

इस टैक्स माफी का लाभ मालवाहक वाहन, पर्यटक वाहन, खुदाई के काम करने वाले वाहन, निजी सेवा वाहन, व्यवसायिक कैम्पर्स वाहन व स्कूल बसों को मिलेगा। प्रदेशभर में ऐसे वाहनों की कुल संख्या 11 लाख 40 हजार 641 है। बता दें कि, इस टैक्स माफी से महाराष्ट्र सरकार को 700 करोड़ रुपए का नुकसान होगा।

ऑल इंडिया ट्रांसपोर्टर्स वेलफेयर एसोसिएशन की मांग थी कि लॉकडाउन के चलते वाहन मालिकों को हुए काफी नुकसान के मद्देनजर सरकार टैक्स में राहत प्रदान करें। AITWA की मांग के तुरंत बाद महाराष्ट्र के कैबिनेट द्वारा वाहनों के टैक्स माफ़ी का निर्णय लिया गया।

https://twitter.com/aitwaho/status/1298629721580699649

ट्रक मालिकों की समस्या की गंभीरता को समझते हुए, कमर्शियल और माल वाहनों पर टैक्स में छूट का यह फैसला ठाकरे सरकार का एक सराहनीय कदम है। 

इसके लिए महाराष्ट्र के परिवहन मंत्री अनिल परब और राज्य सरकार में मंत्री Satej (Bunty) D.Patil का विशेष आभार। हमें उम्मीद है कि बाकी बचे राज्यों में भी जल्द ही ऐसा फैसला लिया जाएगा। 

इसके अलावा, AITWA ने भारत में लॉजिस्टिक क्षेत्र में सप्लाई चैन को बहाल करने की भी अपील केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से की है। 

महाराष्ट्र सरकार का लक्ष्य कोरोनवायरस वायरस की महामारी के कारण नुकसान का सामना करने वाले ट्रांसपोर्टरों पर वित्तीय बोझ को कम करना है। कोरोना महामारी के चलते तबाह हुए ट्रांसपोर्ट सेक्टर के लिए महाराष्ट्र सरकार का यह फैसला बड़ी राहत के रूप में देखा जा रहा है। 

WheelsEye के सूत्रों के अनुसार, पहले lockdown के समय पूरे भारत में कमर्शियल वाहनों की आवाजाही 5% तक पहुँच गई थी। हालांकि, तब से अब तक इसमें सुधार हो रहा है

आप अगर दूसरे राज्य से हैं तो घबराईए नहीं, क्यूंकि महाराष्ट्र के अलावा गुजरात, राजस्थान, उत्तराखंड और हरियाणा सहित 6 से अधिक राज्यों ने पहले ही सभी प्रकार के कमर्शियल वाहनों के लिए रोड टैक्स माफ कर दिया है। और, मुझे उम्मीद है कि वाहन मालिकों की परेशानी और लॉकडाउन के वजह से हुई नुकसान को देखते हुए जल्द ही अन्य राज्य सरकारें भी रोड टैक्स माफ़ी का फैसला लागू कर सकती है। 

अगर इस खबर से जुडी या ट्रांसपोर्ट जगत से जुडी कोई सवाल आपके मन में है तो कमेंट करके हमें बताएं। वीडियो अच्छा लगा तो लाइक कर दें और बाकी वाहन मालिकों के साथ इसे शेयर करना न भूलें। अगर अभी तक सब्सक्राइब नहीं किया है तो सब्सक्राइब कर लें और साथ ही बेल आइकॉन भी दबा दें। 

Have a question related to truck business? / क्या आपके पास कोई ट्रक व्यवसाय से संबंधित प्रश्न है?
Ask / प्रश्न पूछे

प्रातिक्रिया दे

Pay only Rs 3400 (60% Off) for GPS. Offer available for a limited time*

X