खर्च को कवर करने के लिए पुराने ट्रकों को स्क्रैप करेगी VRL Logistics

Order your Free FASTag Today!

Order Now

साउंड के लिए वीडियो पर क्लिक करके अनम्यूट करें

भारत में कॉमर्शियल वाहनों के सबसे ट्रक मालिक, VRLलॉजिस्टिक्स लिमिटेड पुराने ट्रकों को स्क्रैप करेगा और खर्चों को कवर करने और 2020 की दूसरी तिमाही में मुनाफा कमाने के लिए एक भी नए वाहन नहीं खरीदेगा।

कोरोना महामारी से उभरने के लिए, VRLलॉजिस्टिक्स ने 5000 ट्रकों में से लगभग 700 ट्रकों को स्क्रैप किया जाएगा। कंपनी के मुख्य वित्तीय अधिकारी सुनील नलवदी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि कंपनी को लागत में कटौती और नए निवेश को रोककर इस साल मुनाफे की रिपोर्ट करने की उम्मीद है।

यह भी पढ़ें : 13 राजमार्ग परियोजनाओं और एक सड़क सुरक्षा परियोजना का उद्धाटन

कोरोनावायरस महामारी के कारण, भारतीय अर्थव्यवस्था मार्च 2020 में थम गई थी। तब से अधिकांश मध्यम और छोटे निर्माता महामारी से उबरने के लिए लगतार संघर्ष कर रहे हैं। इसी तरह, ट्रांसपोर्टर्स ने भी इस मांग के कारण भारी गिरावट की सूचना दी। ट्रक मालिकों ने उन मार्गों को छांटना शुरू कर दिया जहां मांग कम है।

नलवाड़ी ने कहा कि फार्मास्युटिकल्स और खेती जैसे क्षेत्रों से कारोबार में सुधार हो रहा है, लेकिन कपड़ा और ऑटोमोबाइल से मांग कमजोर है।

अब पुराने ट्रकों की स्क्रैपिंग का कंपनी का प्रस्ताव सरकार के वाहनों को स्क्रैप करने की नीति पर निर्भर करता है जो अभी तक अंतिम रूप नहीं दिया गया है। नलवाडी ने कहा, “अगर 15 साल से अधिक पुराने वाहनों को निकालना है, तो हमारे पास लगभग 700 ट्रक हैं। अगर यह 20 साल है, तो हमारे पास 200 हैं।”

बता दें कि, कंपनी का मुख्यालय कर्नाटक में है और एक ट्रक के साथ साल 1976 में इस कंपनी का संचालन शुरू किया था। 

लॉजिस्टिक सम्बंधित किसी भी अन्य जानकारी के लिए हमारे ‘हेल्प पोर्टल’ पर जाना न भूलें।

Have a question related to truck business? / क्या आपके पास कोई ट्रक व्यवसाय से संबंधित प्रश्न है?
Ask / प्रश्न पूछे

प्रातिक्रिया दे

Pay only Rs 3400 (60% Off) for GPS. Offer available for a limited time*

X