जानिए अनलॉक 3 आते ही कैसे सुधरने लगी ट्रक व्यवसाय

Order your Free FASTag Today!

Order Now

साउंड के लिए वीडियो पर क्लिक करके अनम्यूट करें

लॉकडाउन 1.0 की घोषणा के बाद से ही भारत में लॉजिस्टिक गतिविधि औसत उपयोग से 5% तक गिर गई। और, सरकार को भी यह महसूस हो गया था कि लॉजिस्टिक क्षेत्र में अनियंत्रित गिरावट होने से अर्थव्यवस्था को संभावित नुकसान हो सकता है।

बता दें कि, लॉकडाउन 1 के पहले कुछ दिनों के दौरान ही कोरोना से बचाव की शुरुआती उपायों की घोषणा की गई थी। इनमें ट्रकों के आवागमन और ट्रक  ड्राइवरों के लिए कोविड पास को हटा दिया गया था। और कम कोरोना प्रभावित क्षेत्रों में एसएमई (SMEs) और उद्योग को शुरू करने का जनादेश था। 

ये भी पढ़ें : भारत में ट्रकिंग व्यापार से जुड़ी लेटेस्ट रिपोर्ट: जानिये उपयोग और रिकवरी

अलग-अलग जगहों पर इन शुरुआती उपायों के साथ, लॉजिस्टिक क्षेत्र धीरे-धीरे और तेजी से वापस उछलने लगा। आज, 4 महीने बाद, जैसा कि हम अनलॉक 3.0 में प्रवेश किए हैं, सरकार ने कमर्शियल वाहन पर लगभग सभी प्रतिबंध हटा दिए हैं। इस क्षेत्र ने पहले ही अपने सामान्य उपयोग का 80% हासिल कर लिया है। 

व्हील्सआई ने जुलाई के राज्य-वार लॉजिस्टिक्स रिकवरी डेटा में विश्लेषण करते हुए पाया कि विभिन्न क्षेत्रों और विभिन्न राज्यों के लिए दिलचस्प रुझान और विभिन्न विकास पाए।

ये भी पढ़ें : दस्तावेजों का डिजिटलीकरण : mParivahan और DigiLocker

* डेटा पढ़ते समय समझने के लिए कुछ जरुरी बातें  

सामान्य उपयोग: लॉकडाउन की घोषणा से पहले ट्रक गतिविधि

राष्ट्रीय औसत: भारत भर में औसत ट्रक गतिविधि

व्हील्सआई टीम ने पहले देखा था कि उत्तर और पश्चिम क्षेत्रों में हमेशा संपूर्ण राष्ट्रीय औसत (लॉकडाउन चरण के दौरान) की तुलना में ट्रकों का अधिक उपयोग होता है। यह आंकड़ा जुलाई के महीने में भी जारी रही और सामान्य उपयोग के साथ-साथ क्रमशः पश्चिम और उत्तरी क्षेत्रों में सामान्य रूप से 87.95% और 89.69% तक पहुंच गई।

इस बीच, दक्षिण और पूर्वी क्षेत्रों के ट्रक मालिक अभी भी संघर्ष कर रहे हैं क्योंकि उपयोग केवल दक्षिण और पूर्वी क्षेत्रों में सामान्य उपयोग के 83.26% और 81.84% पर वापस आ गया है।

हरियाणा ने लॉजिस्टिक्स गतिविधि में 99% रिकवरी तक पहुंचने वाले सभी राज्यों में सबसे अधिक और सबसे तेजी से रिकवरी दिखाई है। 

पूर्व में पश्चिम बंगाल और पश्चिम में मध्य प्रदेश और गुजरात में राष्ट्रीय औसत सामान्यीकरण के 95% के करीब यानि रुझान से ऊपर है। 

महाराष्ट्र में लगातार बढ़ रहे कोरोना मामलों के कारण, ट्रक व्यवसाय में तगड़ी गिरावट आई है और कलेक्शन की धीमी प्रवृत्ति सामान्य प्रभाव के केवल 81.26% तक पहुंच गई है। 

खराब उद्योग के कारण छत्तीसगढ़ में सामान्य उपयोग के दक्षिणी क्षेत्रों में 67.72% की कलेक्शन हुई है। दक्षिण में केरल भी अभी सामान्य उपयोग के 66.36% से नीचे है। 

हमें उम्मीद है कि यह जानकारी पूरे भारत में ट्रक मालिकों के लिए मददगार साबित होगी। लॉजिस्टिक संबंधित अन्य समाचार और अपडेट के लिए कृपया हमारे ‘सहायता पोर्टल’ पर जाएँ।

Have a question related to truck business? / क्या आपके पास कोई ट्रक व्यवसाय से संबंधित प्रश्न है?
Ask / प्रश्न पूछे

प्रातिक्रिया दे

Pay only Rs 3400 (60% Off) for GPS. Offer available for a limited time*

X