ई-कॉमर्स – एक बेहतर व्यापार विकल्प या नहीं ?

Order your Free FASTag Today!

Order Now

बीते कल, यानि 28 जून को हुए व्हील्सआई डिजिटल संवाद के 9वें संस्करण का मुख्य मुद्दा था, ई-कॉमर्स और नॉन ई-कॉमर्स में फर्क? साथ ही, दो-दो बड़े ट्रक मालिकों ने दर्शकों को यह भी बताया कि, छोटे ट्रक व्यापार को कैसे बड़ा बनाया जाए? अच्छी टीम का गठन कैसे किया जाता है और उन्होंने यह भी बताया कि ई-कॉमर्स का उपयोग करके आप अपने ट्रक व्यापार में ज्यादा से ज्यादा लाभ कैसे पा सकते हैं। 

इस बातचीत में हमारे साथ थे, मितुज मार्केटिंग के निदेशक श्री अमित बजाज और पीएएफ लॉजिस्टिक्स के व्यापार प्रमुख श्री रजत नागपाल। जानिए, व्यापार से जुड़े सवालों पर क्या कुछ कहा उन्होंने। 

आपको बता दें कि, हर हफ्ते, व्हील्सआई  एक डिजिटल संवाद का आयोजन करता है, जहां हम लाइव बातचीत के माध्यम से ट्रक मालिकों के तमाम सवालों के जवाब देने की कोशिश करते हैं। हमारे अगले होने वाले संवाद तथा ट्रक व्यापार से जुड़ी ख़बरों या जानकारियों से अपडेट रहने के लिए आज ही हमें फेसबुक पर फॉलो करें:

https://www.facebook.com/wheelseyetech/

कोरोनावायरस के कारण लॉजिस्टिक्स में क्या बदलाव देखे गए हैं? आगे क्या उम्मीद है?

  • उत्पादन क्षेत्र में 40-50% की धीमी रिकवरी देखी गई है। जिससे कहीं ना कहीं लॉजिस्टिक पर भी असर पड़ा है।
  • गोदामों और उत्पादन इकाइयों में मजदूरों और ड्राइवरों की कमी ने भी लॉजिस्टिक क्षेत्र को प्रभावित किया है।
  • फिलहाल, लॉजिस्टिक्स के मौजूदा पुराने मांगो को पूरा करना है।
  • गैर-जरूरी वस्तुओं की मांग ज्यादा नहीं है। नतीजतन, इस क्षेत्र में ट्रक मालिकों को समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।
  • आवश्यक वस्तुओं की मांग स्थिर यानि सामान है। इस क्षेत्र में अच्छे व्यावसायिक अवसरों की उम्मीद की जा सकती है।

इ-कॉमर्स और गैर इ-कॉमर्स व्यवसाय में क्या फर्क है?

  • ई-कॉमर्स व्यवसाय में, वाहनों की गति सबसे ज्यादा मायने रखता है। टर्नअराउंड समय (TAT) 97% होना चाहिए। 
  • दिल्ली-बैंगलोर के बीच डिलीवरी 48 घंटे में होनी चाहिए, जबकि दिल्ली-बॉम्बे के बीच 32 घंटे में होनी चाहिए।
  • इसके लिए, अनुबंध दैनिक आधार पर होता है और समय पर वाहन की नियुक्ति सौ प्रतिशत होनी चाहिए। वाहन की अनउपलब्धता के बहाने आप वाहन के ब्रेकडाउन का उपयोग नहीं कर सकते। 
  • एक वाहन की वसूली 6-7 घंटे से कम में होनी चाहिए। क्रॉस डॉकिंग, ड्राइवर प्रशिक्षण, प्रौद्योगिकी और बिल्डिंग ट्रैकिंग टीमों पर ध्यान दें।
  • जबकि, गैर ई -कॉमर्स व्यवसाय में, माल की डिलीवरी इन्वेंट्री पुनःपूर्ति के लिए है। शीघ्र वितरण महत्वपूर्ण नहीं है। माल की डिलीवरी में 4 दिन या उससे भी अधिक का समय लग सकता है।

व्यवसाय को अधिक लाभ वाला कैसे बनाएं? 

  • प्रति किमी में राजस्व बढ़ाने पर अधिक ध्यान दें। 
  • रखरखाव के खर्चों को ठीक से मैनेज करने का तरीका अपनाएं। 
  • टायर के रखरखाव के लिए बेहतर और टिकाव मापदंडों को चुनें।  
  • मूल्य श्रृंखला प्रबंधित करें (3PL + FMCG का मिश्रण)
  • कुल मिलाकर, लाभ बढ़ाने के लिए संचार और चालक के व्यवहार पर विशेष ध्यान दें। 
  • एसएमई और कॉरपोरेट्स के माध्यम से वापसी ट्रिप से व्यापार प्राप्त करने पर दें ध्यान। 
  • अलग-अलग क्षेत्रों और ट्रक प्रकारों के साथ काम करें। 

ई-कॉमर्स में निर्भरता का क्या मतलब है? इसे बेहतर कैसे बनाएं और इसके फायदे क्या हैं ?

  • यहां निर्भरता का अर्थ है, ट्रक मालिक द्वारा दिए गए समय अवधि में माल पहुंचाने की क्षमता। यानि, समय पर माल पहुंचाने के लिए जो जरुरी जरूरतें होती है वो आपके पास होने चाहिए। 
  • यदि ट्रिप के दौरान, किसी वाहन की ब्रेकडाउन या कोई अन्य समस्या आती है तो इसकी निगरानी के लिए एक ट्रैकिंग टीम की होनी चाहिए। 
  • अलग-अलग ग्राहकों और यात्रा मार्गों में अलग-अलग ट्रैकिंग टीम की जरुरत हो सकती है। 
  • माल की अतिरिक्त सुरक्षा के लिए जीपीएस लॉक लगाए जाने चाहिए, वाहन के स्टॉप पॉइंट को ठीक किया जाना चाहिए और वाहन का रखरखाव अत्यधिक होना चाहिए ताकि ब्रेकडाउन ना के बराबर हो।

बहुत से ट्रकों को कैसे संभालना है ? खासकर जब ट्रक ई-कॉमर्स व्यवसाय में शामिल होता है। 

  • सुगम डिलीवरी सुनिश्चित करने के लिए ट्रैकिंग टीमों को ग्राहकों और यात्रा मार्गों के अनुसार मैप करने की आवश्यकता है।
  • उचित चालक प्रशिक्षण किया जाना चाहिए ताकि माल की डिलीवरी दिए गए समय सीमा के भीतर हो सके।
  • ऐसे कर्मचारी की भर्ती करें जो एमएस एक्सेल को जानते हैं, और डिलीवरी पैटर्न को समझने के लिए ट्रैकिंग शीट का निर्माण और विश्लेषण कर सकते हों।
  • वाहनों की रखरखाव नियमित रूप से किया जाना चाहिए। 
  • तकनीक के इस्तेमाल करना चाहिए, विशेष रूप से जीपीएस उपकरणों और लॉक सिस्टम होना चाहिए ताकि वाहनों की सुचारू गति और सुरक्षा सुनिश्चित हो सके।
  • ऐसे कर्मचारी रखें, जो चालक की समस्याओं को समझ सकें, मैकेनिक पर ध्यान दे और ग्राहकों की समस्याओं के अनुसार माल पहुंचा सकें।

ई -कॉमर्स व्यवसाय में दुर्घटनाओं को कैसे रोकें और चालक की सुरक्षा कैसे सुनिश्चित करें?

  • इसके लिए, आपका ध्यान वाहन के कम से कम ठहराव पर होना चाहिए। ड्राइवरों के लिए ब्रेक लेने की अवधि तय की जानी चाहिए (45 मिनट)।
  • एक ट्रक में 2 ड्राइवर होने चाहिए ताकि दोनों अपने-अपने हिसाब से आराम कर सकें।
  • वाहन की गति सरकार द्वारा निर्धारित दिशा-निर्देशों में होनी चाहिए।

लॉजिस्टिक्स के अलग-अलग क्षेत्रों में रिकवरी कैसे हुई है?

  • आवश्यक वस्तुओं, खाद्य और दवाओं की मांग में भारी सुधार देखा गया है। ऐसे उत्पादों को खरीदने के लिए लोग ऑनलाइन शिफ्ट हो गए हैं।
  • ऑटोमोबाइल और कार वाहक सहित गैर-आवश्यक सामानों की मांग में गिरावट आई है।
  • खाद्य और कृषि व्यवसाय में शामिल होने के कारण खुले बॉडी ट्रकों में 60% की वसूली दर देखी गई है। जबकि, बंद कंटेनर ट्रकों में 50% की रिकवरी दर देखी गई है।
  • कुल मिलाकर, ट्रकों की आवाजाही राज्यवार बेहतर हुई है। लेकिन, राज्य के आधार पर, इसे अभी भी धीमा (लाल क्षेत्र), मध्यम (पीला क्षेत्र) और तेज (हरा क्षेत्र) के रूप में वर्गीकृत किया जा सकता है।

व्हील्सआई द्वारा आयोजित डिजिटल संवाद का हिस्सा बनने के लिए हम श्री अमित और श्री रजत को धन्यवाद देते हैं। हमें उम्मीद है कि ऊपर दिए जवाब  ट्रक व्यवसाय से जुड़े लोगों की काफी मदद करेगी। 

Have a question related to truck business? / क्या आपके पास कोई ट्रक व्यवसाय से संबंधित प्रश्न है?
Ask / प्रश्न पूछे

प्रातिक्रिया दे

Pay only Rs 3400 (60% Off) for GPS. Offer available for a limited time*

X