कोरोना संकट से निपटने के लिए बैंकों ने बदल दिया काम करने का तरीका

Order your Free FASTag Today!

Order Now

भारत सरकार ने 25 मार्च, 2020 से लॉकडाउन की शुरुआत की थी। जिसके बाद, सरकार ने धीरे-धीरे भारतीय अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने और सामान्य बनाने के लिए सोशल डिस्टैंसिंग को अपनाने की पहल शुरु की। 

ट्रक मालिकों को शुरू से ही नकदी संकट का सामना करना पड़ रहा है। लेकिन, यदि आप अपने व्यापार में मदद के लिए इमरजेंसी लोन या किसी अन्य प्रकार के लोन के बारे में सोच रहे हैं, तो अच्छी खबर यह है कि, अधिकांश बैंकों ने अपने ग्राहकों की मांगों को बेहतर बनाने के लिए डिजिटलीकरण कर लिया है। अब घर बैठे लोन लेना आसान हो गया है।  

लोन के लिए आवेदन करने वाली अलग-अलग प्रक्रिया हुआ डिजिटल 

  • लोन के लिए अब आपको अपनी पहचान सत्यापित करने के लिए बैंक में शारीरिक रूप से उपस्थित होने की आवश्यकता नहीं है। 
  • आधार-आधारित eKYC की शुरूआत ने पूरी तरह से कागजी सत्यापन प्रक्रिया को समाप्त कर दिया है। 
  • बैंकों द्वारा ई-एग्रीमेंट (e-Agreement) की सुविधा के तहत अब लोन के एग्रीमेंट पेपर को भी डिजिटल कर दिया गया है।
  • साथ ही, ई-स्टांप (e-Stamp) का उपयोग करके अब आप राज्य सरकार को अपने गैर-न्यायिक स्टाम्प शुल्क का भुगतान भी कर सकते हैं।
  • कई आवर्ती भुगतानों से जुड़ी समस्याओं को हल करने के लिए e-NACH को लागू किया गया है।
  • ई-हस्ताक्षर (e-Signature) के जरिए अब सत्यापन प्रक्रिया को बहुत आसान बना दिया है जिससे अब हस्ताक्षरित दस्तावेज की प्रामाणिकता को सत्यापित किया जा सकता है।

यदि आपने लोन लिया है या लेने की योजना बना रहे हैं, तो हम आपको इन सभी प्रक्रियाओं से परिचित होने की सलाह देते हैं। जिससे कि अब आप घर बैठे आसानी से अपनी सभी समस्याओं का समाधान करके लोन प्राप्त कर सकते हैं।

Have a question related to truck business? / क्या आपके पास कोई ट्रक व्यवसाय से संबंधित प्रश्न है?
Ask / प्रश्न पूछे

प्रातिक्रिया दे

Pay only Rs 3400 (60% Off) for GPS. Offer available for a limited time*

X