भारत के विभिन्न राज्यों में ट्रक व्यापार में रिकवरी का गहराई से विश्लेषण

Order your Free FASTag Today!

Order Now

इस लेख में हम भारत के विभिन्न राज्यों में लोकडाउन के बाद से ट्रक आवाजाही की रिकवरी से जुड़े अहम पहलुओं पर नजर डालेंगे। यह सभी महत्वूर्ण बिंदु व्हील्सआई की टीम द्वारा गहन अध्ययन के बाद आपके लिए निकाले गए हैं।

पूरे भारत में ट्रक व्यापार में रिकवरी का हाल

  • लोकडाउन से पहले के आंकड़ों के मुकाबले जून में 70% ट्रकों में लगातार आवाजाही देखी जा रही है।
  • लोकडाउन से पहले के मुकाबले 60% ट्रक मध्यम या अधिक दूरी वाली यात्राएं कर रहे हैं।
  • कुछ ही राज्यों में ट्रकों की आवाजाही पहले के मुकाबले 75% से ज्यादा तक पहुंच पाई है।
  • सभी राज्यों में ट्रकों की आवाजाही पहले के मुकाबले 50% से ज्यादा तक पहुंच गई है।

राज्यों के हिसाब से ट्रक व्यापार में रिकवरी का हाल

मुख्य बातें:

  1. ‘धीरे’ (Slow) रिकवरी करने वाले राज्य: 7
  2. ‘मध्यम’ (Medium) गति से रिकवरी करने वाले राज्य: 10
  3. ‘तेज’ (Fast) रिकवरी करने वाले राज्य: 11
  4. भारत के ट्रक उद्योग में सबसे ज्यादा योगदान महाराष्ट्र, गुजरात एवं दिल्ली का रहता है – ये तीनों ही ‘धीरे’ रिकवरी करने वाले राज्यों में शुमार हैं यानि यहां ट्रक आवाजाही की रिकवरी में चुनौतियों का सामना करना पड़ा है।
  5. कुछ राज्य जहां ट्रकों की आवाजाही तेज़ी से रिकवर हुई है: बिहार, आंध्रप्रदेश, छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश और केरल।

मुख्य बातें:

  1. यहां हम यह देख सकते हैं कि ट्रक उद्योग के लिहाज से तीन सबसे मुख्य राज्य यानि महाराष्ट्र, गुजरात एवं दिल्ली में ट्रक व्यापार की रिकवरी औसतन 52% रही है, जबकि पूरे देश में यह आंकड़ा 70% है।
  2. बिहार, आंध्रप्रदेश, छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश और केरल में ट्रक व्यापार की रिकवरी की औसत दर 73% है।

क्या ट्रक व्यापार में रिकवरी और कोरोना वायरस के मामलों में सीधा नाता है?

मुख्य बातें:

  • साथ दिए ग्राफ से यह बात जाहिर होती है कि जिन राज्यों में कोरोना के काम मामले हैं वहां ट्रक व्यापार में तेज गति से रिकवरी हुई है।
  • यही नहीं जिन चार राज्यों (महाराष्ट्र, तमिलनाडु, गुजरात और दिल्ली) से देश के 65% से ज्यादा कोरोना के मामले आए हैं वहां ट्रक व्यापार में रिकवरी या तो ‘धीरे’ या ‘मध्यम’ रफ्तार से हो रही है (ऊपर दिए गए नक्शे में देखिए)।
  • यह आंकड़े इस बात को साबित करते हैं कि ट्रक व्यापार में रिकवरी का राज कोरोना मामलों को कम करने में ही छुपा हुआ है।

इन अहम बिंदुओं के साथ यह कहा जा सकता है कि ट्रक व्यापार में 70% रिकवरी होना एक महत्वपूर्ण विकास है। यह दर्शाता है कि ट्रक उद्योग भारत की अर्थव्यवस्था का एक बेहद जरूरी हिस्सा है। हमारी कोशिश रहेगी कि ट्रक मालिकों को आगे भी इस तरह के पहलुओं से अवगत कराते रहें।

अपने सवाल व्हील्सआई से पूछिए

यदि आपके पास कोई भी सवाल है तो आज ही संपर्क करें
Call: +91 99900 33455
Email: care@wheelseye.com

Have a question related to truck business? / क्या आपके पास कोई ट्रक व्यवसाय से संबंधित प्रश्न है?
Ask / प्रश्न पूछे

प्रातिक्रिया दे

Pay only Rs 3400 (60% Off) for GPS. Offer available for a limited time*

X