भारत का फास्टैग अनिवार्य करने का नियम कोरोना के समय में साबित हुआ मददगार

Order your Free FASTag Today!

Order Now

भारत सरकार ने 15 जनवरी 2020 से नैशनल हाइवे से गुजरने वाले सभी वाहनों के लिए फास्टैग अनिवार्य कर दिया था। हालांकि उस वक़्त कोरोना महामारी किस स्तर तक बढ़ सकती है इसका अंदाज़ा लगाना नामुमकिन था, मगर टोल वसूली ऑनलाइन करना टोल प्लाज़ा पर समाजी दूरी बनाए रखने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम साबित हो सकता है।कल NHAI ने इस बारे में ट्वीट भी किया:

आप अपने ट्रकों के लिए व्हील्सआई से मुफ्त फास्टैग ले सकते हैं! यहां क्लिक करें और फॉर्म भरें:

https://wheelseye.com/wb/fastag.

फास्टैग RFID से जुड़ा टैग होता है जिसे वाहन के शीशे पर लगाया जाता है। ट्रक जैसे ही फास्टैग स्कैन करने में सक्षम टोल प्लाजा से गुजरता है, RFID रीडर अपने आप टैग को स्कैन करता है और आपके फास्टैग से लिंक किए बैंक खाते से अपने आप पैसा कट जाता है। इस सहज सिस्टम से शारिरिक रूप से लेनदेन करने और नगद इस्तेमाल करने की जरूरत नहीं पड़ती।

व्हील्सआई की सभी ट्रक मालिकों को सलाह है कि सुनिश्चित करें कि आपके ट्रकों में फास्टैग लगे।यह पक्का करना बेहद जरूरी है कि सभी ड्राइवर समाजी दूरी का पालन करें और इसके लिए फास्टैग का इस्तेमाल करना जरूरी है।

आप व्हील्सआई की GPS + फास्टैग एप्प से अपने फास्टैग और टोल खर्चों को आसानी से मैनेज कर सकते हैं। ज्यादा जानकारी के लिए संपर्क करें !

अपने सवाल व्हील्सआई से पूछिए

यदि आपके पास कोई भी सवाल है तो आज ही संपर्क करें
Call: +91 99900 33455
Email: care@wheelseye.com

Have a question related to truck business? / क्या आपके पास कोई ट्रक व्यवसाय से संबंधित प्रश्न है?
Ask / प्रश्न पूछे

प्रातिक्रिया दे

Pay only Rs 3400 (60% Off) for GPS. Offer available for a limited time*

X